भारत में, प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन 140 कोविड जांच के विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक से लगभग छह गुना अधिक जांच।

भारत में, प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन 140 कोविड जांच के विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक से लगभग छह गुना अधिक जांच हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड जांच की दर राष्ट्रीय औसत से भी अधिक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने संदिग्ध कोविड संक्रमितों का पता लगाने के लिए प्रत्येक देश को प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन 140 जांच कराने का परामर्श दिया था।

देश में, अब तक 7 करोड़ 90 लाख कोविड जांच हो चुकी है। इसके साथ ही प्रतिदिन दुनिया में सबसे अधिक जांच करने वाला देश बना हुआ है। पिछले 2 महीनों में जांच की दर प्रतिदिन लगभग चार गुना बढ़़ी है। इस समय 10 लाख की आबादी पर 50 हजार नमूनों की जांच की जा रही है।

देश में कोविड से स्‍वस्‍थ होने वालों की दर बेहतर हुई है। अब तक 55 लाख से अधिक मरीज संक्रमण से मुक्‍त हो चुके हैं। स्‍वस्‍थ होने के मामले में भारत का विश्‍व में पहला स्‍थान है। संक्रमण से स्वस्थ होने की दर सुधरकर 84 दशमलव एक प्रतिशत हो गई है। 

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि कुल संक्रमित मामलों में से केवल 14 दशमलव तीन प्रतिशत ही रोगी हैं। वर्तमान रोगियों की तुलना में ठीक होने वालों की दर छह गुना अधिक है। पिछले एक महीने में कोविड मरीजों के स्‍वस्‍थ होने की दर शत-प्रतिशत रही है। कोविड मृत्यु दर भी घटकर एक दशमलव पांच प्रतिशत रह गई है। भारत में मृत्‍यु दर वैश्विक औसत से लगभग आधी है।

दिल्‍ली में कोविड के दो हजार 683 नए मरीज सामने आए हैं। इन्‍हें मिलाकर कोरोना संक्रमण से प्रभावित रोगियों की संख्‍या दो लाख 90 हजार से अधिक हो गई है। अब तक दो लाख साठ हजार से अधिक लोग ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटे में राजधानी में तीन हजार 126 लोग ठीक हुए और 38 लोगों की मौत हुई है।

मध्‍य प्रदेश में कोविड संक्रमित लोगों की संख्‍या एक लाख 35 हजार से अधिक हो गई है। कल एक हजार सात सौ बीस लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई और 35 रोगियों की मृत्‍यु के साथ ही राज्‍य में कोविड संक्रमण से मरने वालों की संख्‍या दो हजार चार सौ 34 हो गई है।

राज्य के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, 2 हजार 120 कोरोना वायरस रोगियों को कल स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी मिल गयी । इसके फलस्वरूप प्रदेश में अब तक 1 लाख 13 हजार लोग स्वस्थ हो चुके हैं। मध्य प्रदेश में अब 19 हजार 372 सक्रिय मामले हैं। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि राज्य सरकार प्रति दिन कम से कम 30 हजार परीक्षण करने के प्रयास कर रही है, लेकिन मुश्किल यह है कि लोग परीक्षण के लिए न तो आगे आ रहे हैं और न ही फीवर क्लीनिक में जा रहे हैं। आम लोगों की सुविधा के लिए मध्‍य प्रदेश सरकार ने निजी क्लीनिकों में परीक्षण की कीमत भी निर्धारित कर दी है। राज्य में अब तक 21 लाख 17 हजार परीक्षण किए गए हैं। इन परीक्षणों में से 60 फीसदी आरटी पीसीआर परीक्षण हैं जबकि 40 प्रतिशत रेपिड एंटीजन टेस्‍ट हैं।

छत्तीसगढ़ में गहन सामुदायिक कोरोना सर्वेक्षण अभियान चल रहा है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि अभियान के तहत 12 अक्तूबर तक ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में घर-घर जाकर कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले रोगियों की पहचान की जायेगी। छत्तीसगढ़ में चलाए जा रहे इस अभियान का उद्देश्य शहरी और ग्रामीणों इलाकों में सघन सामुदायिक सर्वे करके कोरोना मरीजों की जल्द से जल्द पहचान कर उन्‍हें उपचार उपलब्ध कराना है। इस अभियान के जरिए कोरोना मरीजों को आइसोलेट कर कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने का प्रयास किया जाएगा। इस अभियान के लिए मितानिनों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ ही पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय प्रशासन विभाग के मैदानी अमले की ड्यूटी लगाई गई है। इस बीच, छत्तीसगढ़ के दस जिलों में कराए गए सीरो सर्विलेंस की रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के करीब साढ़े पांच प्रतिशत लोगों के शरीर में कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ने वाले एंटीबॉडीज की मौजूदगी पाई गई है।

गुजरात में कल एक हजार तीन सौ दो लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। राज्य में संक्रमण मुक्त होने की दर 85 दशमलव सात-पांच प्रतिशत हो गई है। गुजरात में अब तक संक्रमण के 1 लाख 42 हजार 700 मामले पाये जा चुके है। कल 1,246 मरीजो को ठीक होने साथ अस्पतालों से छुट्टी दी गई। कुल 46 लाख 45 हजार से अधिक लोगो का कोविड-19 के लिए परीक्षण किया जा चुका है। इसमें से 56 हजार 700 परिक्षण कल एक ही दिन में किये गए। राज्य में सबसे अधिक 283 नये मामले कल सूरत में दर्ज हुये। इस वक्त 16 हजार 836 सक्रीय मामले है। जिसमे से 87 मरीज वेंटीलेटर पर है। कल 9 मरीज़ो की मृत्यु के साथ कोविड-19 से जान गवाने वाले मरीजो की संख्या 3,499 हो चुकी है।

About Media Watch Editor

Virendra Sharma

View all posts by Media Watch Editor →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *