प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा- सहयोगी देशों के साथ भारत के संबंध आपसी विकास और विश्‍वास के सिद्धातों पर आधारित।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सहयोगी देशों के साथ भारत के संबंध आपसी विकास और विश्‍वास के सिद्धांतों पर आधारित हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत आर्थिक फायदे को ध्‍यान में रखकर किसी देश के साथ संबंध नहीं बनाता। श्री मोदी ने आज मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविन्‍द जुगनॉथ के साथ पोर्ट लुई में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए मॉरीशस के उच्‍चतम न्‍यायालय के नये भवन के उद्घाटन के अवसर पर यह बात कही। इस मौके पर दोनों देशों की न्‍यायपालिकाओं के वरिष्‍ठ सदस्‍य और अन्‍य गणमान्‍य व्यक्ति भी उपस्थित थे ।

प्रधानमंत्री मोदी ने इस अवसर पर कोविड-19 से कारगर तरीके से निपटने पर मॉरीशस की जनता और सरकार को शुभकामनाएं दीं।

श्री मोदी ने  मॉरीशस के साथ भारत की विशेष मित्रता का जिक्र करते हुए कहा कि इसकी जड़ें हमारे सांस्‍कृतिक संबंधों पर टिकी हैं।

प्रधानमंत्री ने समूचे क्षेत्र की सुरक्षा और विकास की अवधारणा पर भारत की आस्‍था का भी उल्‍लेख किया जिसे ‘सागर’ के नाम से भी जाना जाता है।

‘सागर’ की परि‍कल्‍पना प्रधानमंत्री मोदी ने 2015 में की थी।

श्री मोदी ने कहा कि विकास के बारे में भारत के लक्ष्‍य मानव केन्द्रित हैं और वह अपने सभी साथी देशों को विकास के मार्ग पर आगे ले जाने के लिए प्रयत्‍नशील है। उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि दूसरे देशों के साथ भारत के संबंधों के पीछे कोई आर्थिक बाध्‍यताएं नहीं हैं, बल्कि ये आपसी विकास और सम्‍मान की भावना पर आधारित हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत ने कई देशों को बुनियादी ढांचे संबंधी आवश्‍यक परियोजनाओं को पूरा करने में मदद दी है और इनमें अफगानिस्‍तान में संसद भवन और नायजर में महात्‍मा गांधी सम्‍मेलन केन्‍द्र का निर्माण, श्रीलंका के सभी आठ प्रांतों में एम्‍बुलेंस सेवा और नेपाल में आपात चिकित्‍सा सेवा की शुरुआत शामिल हैं। मॉरीशस में भारत की सहायता से बनी उच्‍चतम न्‍यायालय की इमारत सहित मेट्रो रेल और अत्‍याधुनिक अस्‍पताल परियोजना का जिक्र करते हुए  प्रधानमंत्री ने विश्वास व्‍यक्‍त किया कि ऐसी परियोजनाओं से भारत और मॉरीशस के बीच सहयोग सुदृढ़ होगा।

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविन्‍द जुगनॉथ ने उच्‍चतम न्‍यायालय के नवनिर्मित भवन के उद्घाटन के बाद कहा कि भारत ने मारीशस के विकास संबंधी लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने में हमेशा मदद की है। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्‍व में भारत-मॉरीशस संबंधों में मजबूती आयी है और ये नये स्‍तर पर पहुंचे हैं। उन्‍होंने कहा कि मॉरीशस विकास परियोजनाओं को पूरा करने में प्रधानमंत्री मोदी की सहायता के लिए आभारी है। उन्‍होंने इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी के सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के संकल्‍प का भी जिक्र किया। 

मॉरीशस के उच्‍चतम न्‍यायालय का नया भवन भारत की तीन करोड डॉलर की सहायता से बनाया गया है। यह मॉरीशस में भारत के सामाजिक-आर्थिक पैकेज के तहज चलाई जा रही पांच परियोजनाओं में से एक है। 

About Media Watch Editor

Virendra Sharma

View all posts by Media Watch Editor →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *